ख़बरराष्ट्रीय

फैन को उठवाकर हड्डियां-दांत तोड़े,

पीटकर मार डाला:मर्डर केस में कैसे फंसे साउथ स्टार दर्शन, विक्टिम फैमिली बोली- वो हैवान है

कर्नाटक के चित्रदुर्ग में लक्ष्मी वेंकटेश्वर लेआउट मोहल्ला है। इसी मोहल्ले में एक दोमंजिला मकान है, नाम है- सिद्धम साधना। ये घर रेणुकास्वामी का है। वही रेणुकास्वामी, जिनके मर्डर का आरोप कन्नड़ फिल्मों के सुपरस्टार दर्शन पर है। रेणुकास्वामी के घर में अब बूढ़े मां-बाप और 5 महीने की प्रेग्नेंट पत्नी हैं।

पुलिस के मुताबिक, 33 साल के रेणुकास्वामी दर्शन के फैन थे। उन्होंने दर्शन की दोस्त पवित्रा को इंस्टाग्राम अकाउंट से गंदे मैसेज भेजे थे। इसी गुस्से में दर्शन ने रेणुकास्वामी का मर्डर करवा दिया। हालांकि रेणुकास्वामी का परिवार ऐसा नहीं मानता। परिवार का कहना है कि ये बचने के लिए गढ़ी गई झूठी कहानी है। फैन होना तो दूर, हमने बेटे के मुंह से कभी दर्शन का नाम तक नहीं सुना।

चित्रदुर्ग के रहने वाले रेणुकास्वामी फार्मासिस्ट थे और एक फार्मेसी में काम करते थे। दावा है कि वे कन्नड़ फिल्मों के स्टार दर्शन के फैंस क्लब में शामिल थे।

29 जून को रेणुकास्वामी की शादी की पहली सालगिरह थी, जश्न की जगह मातम
दैनिक भास्कर रेणुकास्वामी के मर्डर के 20 दिन बाद 29 जून को उनके घर पहुंचा। घर में एक टेबल पर रेणुकास्वामी की फोटो रखी है। फोटो के पास ही रेणुकास्वामी के पिता 65 साल के काशीनाथ शिवनगौड़ा बैठे थे।

बिजली विभाग से रिटायर्ड काशीनाथ कहते हैं, ’29 जून, 2023 को बेटे की शादी हुई थी। आज उसकी शादी की पहली सालगिरह होती। बहू 5 महीने की प्रेग्नेंट है। हम कई महीनों से सेलिब्रेशन की प्लानिंग कर रहे थे। आज घर में मातम की जगह जश्न होता, लेकिन उससे पहले ही उन दरिंदों ने मेरे इकलौते बेटे को बेरहमी से मार दिया।’

रेणुकास्वामी की पत्नी सहाना भी चित्रदुर्ग की रहने वाली हैं। एक साल पहले दोनों की अरेंज मैरिज हुई थी।

ये कहते हुए काशीनाथ रोने लगते हैं। वे बेटे के साथ हुई जिस बेरहमी की बात कर रहे हैं, वो वाकई डराने वाली है। 8 जून की सुबह रेणुकास्वामी को चित्रदुर्ग से अगवा किया गया था। 9 जून को उनकी डेडबॉडी बेंगलुरु के कामाक्षीपाल्या एरिया में एक नाले में मिली। डेडबॉडी को जब एक डिलीवरी बॉय ने देखा, तब कुत्ते उसे नोंच रहे थे।

पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट से पता चला कि रेणुकास्वामी के शरीर पर 15 गंभीर चोटें हैं। तीन तरफ की हड्डियां टूटी हुई थीं और पेट में खून का रिसाव हुआ था। चार दांत टूटे थे। शरीर में खून जम गया था। बॉडी पर सिगरेट से जलाने के निशान मिले।

रेणुकास्वामी की डेडबॉडी बेंगलुरु में एक नाले के पास मिली थी। शरीर पर पिटाई के निशान थे। आरोपियों ने उन्हें बुरी तरह पीटा था, जिससे उनकी मौत हो गई।

काशीनाथ आगे कहते हैं, ‘मेरे बेटे ने कुछ भी गलत किया हो, लेकिन उसके साथ ऐसा सलूक तो नहीं करना था। दर्शन इतना बड़ा स्टार है, पुलिस में शिकायत कर देता। बेटे को पकड़कर पुलिस को दे देता। उसे करंट लगाना, कान काट लेना, जबड़ा तोड़ देना, कहां तक सही है। इस तरह से कोई किसी को मारता है क्या। वे सब हैवान हैं।’

क्या रेणुकास्वामी दर्शन के फैन थे? जवाब में काशीनाथ कहते हैं, ‘मैं दर्शन को जानता हूं, लेकिन बेटे के मुंह से कभी उसका नाम नहीं सुना। लोग कह रहे हैं कि वो दर्शन या पवित्रा का फैन था। ये झूठ है।’

पत्नी बोलीं- दर्शन झूठ बोल रहा है, मेरे पति को बदनाम किया
रेणुकास्वामी की पत्नी सहाना हॉल में आती हैं और पति की फोटो गोद में लेकर बैठ जाती हैं। फिर बताती हैं, ‘शुक्रवार को वे घर से काम पर गए थे। यही हमारी आखिरी मुलाकात थी। अगले दिन शनिवार को उनकी मौत की खबर आई।’

फोटो में रेणुकास्वामी की पत्नी सहाना और मां रत्नप्रभा हैं। सहाना का दावा है कि उनके पति ने पवित्रा को कभी मैसेज नहीं किया।

क्या रेणुकास्वामी ने कभी दर्शन के बारे में बात की थी? सहाना जवाब देती हैं, ‘वे मुझसे कुछ नहीं छिपाते थे। मेरे पति पवित्रा को मैसेज नहीं करते थे। वे लोग बचने के लिए झूठी कहानी बना रहे हैं और मेरे पति को बदनाम कर रहे हैं।’

स्टाफ ने भी कहा- रेणुकास्वामी से कभी दर्शन या पवित्रा का नाम नहीं सुना
रेणुकास्वामी के परिवार से मिलने के बाद हम उस फार्मेसी पर पहुंचे, जहां वे एक साल से काम कर रहे थे। ये फार्मेसी बेंगलुरु हाईवे पर है और रेणुकास्वामी यहां इंचार्ज थे। फार्मेसी के एक स्टाफ ने नाम उजागर न करते हुए बताया, ‘हमने न कभी रेणुकास्वामी को सोशल मीडिया पर देखा और न ही उनसे कभी दर्शन या पवित्रा का नाम सुना।’

‘7 जून को वे फार्मेसी से दोस्तों के साथ निकले थे। इसके CCTV फुटेज भी हैं। उन्होंने बालाजी बार के पास बाइक खड़ी की और चार लोगों के साथ ऑटो में बैठकर दो किमी दूर एक पेट्रोल पंप पर गए। इसके बाद उनका पता नहीं चला। शाम को उनका फोन बंद आने लगा। हमने सोचा कि शायद फोन डिस्चार्ज हो गया होगा।’

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button