ख़बर

छत्तीसगढ़ में 660 करोड़ का स्वास्थ्य उपकरण खरीदी घोटाला, स्‍वास्‍थ्‍य मंत्री ने दिए जांच के निर्देश

रायपुर। कांग्रेस सरकार के दौरान छत्तीसगढ़ में 660 करोड़ रुपये के स्वास्थ्य उपकरण खरीदी में घोटाला हुआ है। यह राजफाश हुआ है प्रधान महालेखाकार (लेखा परीक्षा) छत्तीसगढ़ की आडिट रिपोर्ट में। इसके मुताबिक राज्य में वित्त वर्ष 2022-23 और 2023-24 के दौरान चिकित्सा उपकरण और अभिकर्मक बिना किसी बजट आवंटन के ही खरीद लिए गए। छत्तीसगढ़ मेडिकल सर्विसेज कार्पोरेशन (CGMSC) ने मोक्षित कार्पोरेशन के माध्यम से करोड़ों की खरीदी कर गड़बड़ी की है।नौ बच्चों को पढ़ाने के लिए 70 लाख खर्च कर रहा शिक्षा विभाग, जानिए पूरा मामला

प्राथमिक जांच में यह गोलमाल सामने आने पर लेखा एवं लेखापरीक्षा विभाग के प्रिंसिपल अकाउंटेंट जनरल (ऑडिट) आइएएस यशवंत कुमार ने स्वास्थ्य विभाग के अपर प्रमुख सचिव मनोज कुमार पिंगुआ को पत्र लिखा है। महालेखाकार द्वारा स्वास्थ्य विभाग को लिखे गए पत्र के बाद वर्तमान स्वास्थ्य मंत्री श्याम बिहारी जायसवाल ने जांच के निर्देश दिए हैं। बतादें कि ऑडिट रिपोर्ट जिस वित्तीय सत्र की है उस दौरान प्रदेश के स्वास्थ्य मंत्री पूर्व उप मुख्यमंत्री टीएस सिंहदेव रहे हैं। सिंहदेव ने भी मामले की जांच कर दोषियों पर कार्रवाई होने की बात कही है।एसपी ने दो पुलिसकर्मियों को किया निलंबित

यह कहती है ऑडिट रिपोर्ट

ऑडिट में पाया गया कि निगम ने चिकित्सा उपकरण और अभिकर्मक खरीदे, और उन्हें 776 प्राथमिक स्वास्थ्य देखभाल (पीएचसी) सुविधाओं में वितरित किया। चौंकाने वाली बात यह है कि इनमें से 350 से अधिक पीएचसी में उपकरणों का प्रभावी ढंग से उपयोग करने के लिए आवश्यक तकनीकी जनशक्ति और भंडारण सुविधाओं का अभाव था।I

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button